हमारी नवीनतम पोस्टें :


13 मई, 2011

कोंग्रेस की चुनावों में जय हो लेकिन कीमतें फिर भी बढ़ेंगी

देश की जनता का टेस्ट देखिये ,लोकतंत्र में जनता का चुनाव देखिये कई सालों से जनता देश की सरकार को महंगाई और भ्रस्ताचार के लियें ज़िम्मेदार बताकर आन्दोलन कर रही ही सरकार को चोर और निकम्मे बेईमान बता रही है वाही जनता जब सरकारें चुनने का नम्बर आया तो बस उसने अपने वोट से इसी चोर सरकार और बेईमान सरकार को चुन डाला है .......
कई राज्यों के चुनाव में कोंग्रेस और कोंग्रेस के समर्थकों के मजे हैं जनता ने एक तरफ तो कोंग्रेस को बेईमान और भ्रष्ट कहा दूसरी तरफ कई जगह पर उसे और सहयोगियों को चुन लिया बात साफ़ है के जनता कोंग्रेस और सहयोगियों को मन से बुरा नहीं मानती है और इसीलियें कोंग्रेस और सहयोगियों को चुनती है कोंग्रेस है के बस जनता को कीड़ा मकोड़ा समझती है अभी फिर सोना चान्दी और पेट्रोल के दाम बढ़ाने की तय्यारी है चुनाव में कोंग्रेस जीतने के बाद ख़ुशी में जनता को पेट्रोल , रसोई गेस और डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी कर पुरस्कार देगी अब क्या करे भाई यह जनता है इसे जो पसंद है लोकतंत्र को भी इसे ही पसंद कहेंगे ........अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें