हमारी नवीनतम पोस्टें :


08 मई, 2011

अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान: रोज़ क्यूँ मरते हो .. किसी डर सेआहत होकर तुम रो...

अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान: रोज़ क्यूँ मरते हो .. किसी डर सेआहत होकर तुम रो...: "रोज़ क्यूँ मरते हो .. किसी डर से आहत होकर तुम रोज़ क्यूँ मरते हो रोज़ क्यूँ यूँ ही दर्द से सिसकते हो अपने अन्दर जो डर छुपा है उठो ..."

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें