हमारी नवीनतम पोस्टें :


18 मई, 2011

देश भर में विधिक सहायता और साहित्यिक काम में जुटे हैं भाई दिनेश द्विवेदी उनकी आज वैवाहिक वर्षगांठ है





देश भर में विधिक सहायता और साहित्यिक काम में जुटे हैं, भाई दिनेश द्विवेदी, उनकी आज वैवाहिक वर्षगांठ है , जी हाँ दोस्तों ,बारां राजस्थान में एक गाँव में जन्मे,, भाई दिनेश राय जी द्विवेदी में ,उनके पिता टीचरजी के संस्कार हैं, और इसीलियें सहजता और सरलता उनमे कूट कूट कर भरी है ......भाई दिनेश जी पढने के लियें कोटा आये और कोटा के ही होकर रह गये ..इन्होने कोटा में विधि स्नातक किया और यहाँ पहले साहित्यिक संस्थाओं से जुड़ कर खूब लिखा,फिर पत्रकारिता की ,और फिर लाल सलाम के साथ, इन्साफ की लड़ाई में जुट गए ...........भाई दिनेश जी खुश किस्मत हैं ,के आज के दिन ही हमारी भाभीजी से उनका विवाह हुआ ..एक सीधी साधी पंडितानी जी, जो हर कदम पर भाई दिनेश जी के साथ लगी रही और यही कारण है के  भाई दिनेश जी की आज की,जुडी कामयाबियों में हमारी भाभी जी का भी बराबर का योगदान है, आज का खुशनसीब दिन ,,जिस दिन उनका विवाह हुआ था उन्हें मुबारक हो ...............
भाई दिनेश जी की ब्लोगिंग की बुलंदिया क्या है, यह मुझे बताने की जरा भी जरूरत नहीं है,आज हमारीवाणी एग्रीगेटर के वोह सम्पादक मंडल में है, देश और विदेश के सभी हिंदी ब्लोगर उन्हें जानते हैं, उनका सहज सादा और दिल की गहराइयों को छूने वाला लेखन, जब लोग पढ़ते हैं तो बस, उस पर नाजाने कितनी दाद उन्हें मिलती है .............भाई दिनेश जी द्विवेदी का तीसरा खम्बा .......क्राइम एंड पनिशमेंट ..इन्डियन लीगल न्यूज़ ............माय हाडोती ..अनवरत  के अलावा दर्जनों सांझे ब्लॉग हैं लेकिन तीसरा खम्बा  और अदालत पर भाई दिनेश जी एक वकील ब्लोगर के नाते जो खिदमत अंजाम दे रहे हैं उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता वोह देश भर में विधिक साक्षरता की अलख जगा रहे हैं एक सम्पूर्ण ब्लोगर भाई दिनेश जी अपने संस्कारों और विचारों के कारण, अधिकतम ब्लोगर्स के दिलों में बसे है, वोह बात और है, के उनकी साफ़ गोई ,कुछ लोगों की नाराजगी का कारण बन जाती है ,लेकिन वोह जो देखते हैं, जो सच समझते हैं, कहते हैं, लेकिन  दिल से वोह मोम की तरह मुलायम हैं,,,,भाई दिनेश जी को आज उनकी वैवाहिक वर्ष्गांठ के अवसर पर एक छोटे भाई की हार्दिक बधाई ...अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें